ज्ञान वाटिका

GYAAN VATIKA

ज्ञान की प्रयोगशाला

इलेक्ट्रिक वाहन क्या है | बैटरी इलेक्ट्रिक वाहन

हाल के वर्षों में इलेक्ट्रिक वाहन (Electric Vehicle) की लोकप्रियता का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। तकनीकी प्रगति ने इनकी कीमत में कमी के साथ कार्य कुशलता में वृद्धि और पर्यावरण के अनुकूल बनाया है। इस ब्लॉग के अंतर्गत हम ये जानेगें की इलेक्ट्रिक वाहन क्या हैं? कैसे काम करते हैं और क्यों दुनिया भर में लोकप्रिय हो रहे हैं।

 

इलेक्ट्रिक वाहन क्या है | बैटरी इलेक्ट्रिक वाहन

इलेक्ट्रिक वाहन (Electric Vehical) क्या हैं?

इलेक्ट्रिक वाहन में फ्यूल के रूप में पेट्रोल,गैस या डीजल के स्थान पर इलेक्ट्रिक ऊर्जा का प्रयोग किया जाता है। वाहन में प्रयुक्त रिचार्जेबल बैटरी में ऊर्जा का स्टोरेज किया जाता है। इस वाहन में पेट्रोलियम वाहनों की तरह धुएं के रूप में हानिकारक गैसों या अन्य विषैले तत्वों का उत्सर्जन नहीं होता है। इसकी यही विशेषता इसे पर्यावरण अनुकूल विकल्प बनाता है।

 इलेक्ट्रिक वाहन(Electric Vehicle) कैसे कार्य करते हैं?

वाहन को चलाने के रिचार्जेबल बैटरी पैक का प्रयोग किया जाता है। बैटरी पैक में संचित ऊर्जा इलेक्ट्रिक मोटर को चलाती है। ये इलेक्ट्रिक मोटर विद्युत ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में परिवर्तित कर देती है। इसके परिणामस्वरूप वाहन के पहिए घूमते हैं जो वाहन को गतिशील बनाते हैं। इस वाहन की एक और विशेषता इसमें प्रयोग किया जाने वाला Regenerative Braking सिस्टम है। ये ब्रेकिंग सिस्टम वाहन में ब्रेक लगाने पर बैटरी को रिचार्ज कर देता है। पेट्रोल पंप की तरह इन वाहनों की बैटरी को रिचार्ज करने के लिए विद्युत चार्जिंग स्टेशन का निर्माण किया जाता है। यहां प्लग इन करके बैटरी को चार्ज किया जाता है। 

इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रकार (Types Of Electric Vehicle)

कार्यप्राणाली के आधार पर मुख्यता दो प्रकार के इलेक्ट्रिक वाहन उपलब्ध हैं।

  • बैटरी इलेक्ट्रिक वाहन (BEV) 
  • प्लग-इन हाइब्रिड इलेक्ट्रिक वाहन (PHEV)

BEV पूरी तरह से इलेक्ट्रिसिटी से चलने वाला वाहन है। इसको चलाने के लिए बैटरी का प्रयोग किया जाता है। कोई भी उत्सर्जन नहीं करने के कारण यह पर्यावरण हितैषी होता है। PHEV जैसा नाम से स्पष्ट है एक हाइब्रिड वाहन होता है। यह इलेक्ट्रिक मोटर और पेट्रोलियम इंजन दोनों से चलता है। वाहन के इस प्रारूप में पेट्रोलियम पदार्थ बैकपावर के रूप में कार्य करता है। यह ऐसे स्थान के लिए अधिक उपयोगी है जहां पर इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन की कमी होती है। ये वाहन चालक को इलेक्ट्रिसिटी और पेट्रोलियम fuel दोनों विकल्प देते हैं।

इलेक्ट्रिक वाहन (Electric Vehicle) क्यों चुनें?

इलेक्ट्रिक वाहन का चुनाव करने के कई फायदे हैं।जिनका उल्लेख निम्नलिखित है

 

पर्यावरण हितैषी:

इलेक्ट्रिक वाहन किसी भी प्रकार का उत्सर्जन नहीं करते हैं। इनकी यही खासियत इसे पर्यावरण के अनुकूल बनाती है। भारत में राजधानी दिल्ली समेत कई स्थान पर्यावरण प्रदूषण से प्रभावित है। इलेक्ट्रिक वाहन ऐसे स्थानों पर वायु प्रदूषण को कम कर सकते हैं।

मेंटेनेंस के खर्चे में कमी:

इलेक्ट्रिक वाहन में fuel के रूप में प्रयोग की जाने वाली बिजली पेट्रोलियम पदार्थ से सस्ती होती है। इसके रख रखाव में भी कम खर्च करना पड़ता है। खासकर पेट्रोलियम वाहनों की तरह भारी भरकम इंजन नहीं होता।

सुकून भरा सफर: 

इलेक्ट्रिक वाहन शोर नहीं करते हैं। इसके कारण ध्वनि प्रदूषण पर नियंत्रण होता है। इसके चालक को मिलता है एक आरामदायक और सुकून भरा सफर।

 सरकारी प्रोत्साहन:

इलेक्ट्रिक वाहन अभी अपने विकास के प्रारंभिक चरण में हैं। प्रदूषण रहित होने के कारण सरकार इनकी खरीद को बढ़ावा दे रही है। जैसे टैक्स क्रेडिट, छूट और अन्य वित्तीय प्रोत्साहन।

Electric Vehicle यात्रा करने का एक स्वच्छ और स्मार्ट तरीका है। प्रदूषण रहित, बेहतर प्रदर्शन, लो मेंटेनेंस और सरकारी प्रोत्साहन के लाभ के कारण लोग तेजी से इलेक्ट्रिक वाहन की ओर आकर्षित हो रहे हैं। भारत में लगभग 13 लाख इलेक्ट्रिक वाहन रजिस्टर्ड हैं। जैसे-जैसे Technology में सुधार जारी रहेगा इलेक्ट्रिक वाहन परिवहन के लिए और भी अधिक व्यावहारिक और किफायती विकल्प बन जाएंगे।

 

 

1 thought on “इलेक्ट्रिक वाहन क्या है | बैटरी इलेक्ट्रिक वाहन”

  1. बेहतरीन लेख के लिए धन्यवाद! इलेक्ट्रिक कारों के इस्तेमाल से शहर कम शोर और बदबूदार हो जायेंगे। सरकार को ऐसी कारों की खरीद पर छूट देनी चाहिए!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top